प्यार में धोखा शायरी in hindi | Dhoka Shayari in hindi

मेरी बस अब
आंखें बोलती हैं
आवाज मुझसे
रुठ गई है

रोने से अगर मिलती
चाहत इस ज़माने मैं
तो आज एक शहर होता
मुझ से वफ़ा निभाने के लिए

pyar me dhoka shayari in hindi

एक पल मैं जो बर्बाद कर देते है
दिल की बस्ती को फ़राज़
वो लोग दिखने में
मासुम बड़े होते है

मैं तो बस
ज़िंदगी से डरता हूं
मौत तो एक
बार ही मारेगी

Pyar me dhoka shayari in hindi

जाने क्यूं,
अब शर्म से,
चेहरे गुलाबी नहीं होते।
जाने क्यूं,
अब मस्त मौला
मिज़ाज नहीं होते

मुझे आती है
यादें तेरी
रुलाती है बहुत
यादें तेरी

dhoka shayari in hindi images

Dosti me dhoka shayari in hindi

जब प्यार किया था
क्या सोचा था,
तुम बेवफाई करोगी,
तुम भूल जाओगी मुझे
और किसी और से सगाई करोगी

जब मै रोया
सुबक सुबक कर तेरी यादों में,
मेने तब महसूस किया की
कितना मुश्किल है सांस लेना
आँखों में भरे आंसू
छलक जाये तो अच्छा,
भारी दिल हो या बादल
बरस जाये तो अच्छा

मेरी कहानी तुम से शुरू
तुम पर ही खत्म,
सांसों की रवानी
तुमसे ही शुरू तुमपे ही ख़त्म

Dhoka shayari in hindi for girlfriend

मोहब्बत की थी हमने
साथ साथ तो
फिर तुम्हे ज़िन्दगी
मुझे मौत क्यों मिली

तुम बिछड गए
हम बिख़र गए,
तुम मिले नहीं और
हम किसी और के हुए नहीं

dosti me dhoka shayari in hindi

काश वो समझते
इस दिल की तड़प को ,
तो हमें यूँ रुसवा
ना किया जाता

जिनकी आंखें आंसू
से नम नहीं क्या
समझते हो
उसे कोई गम नहीं

इक उम्र बीत गयी
पर ये समझ नहीं आया
जिनसे मोहब्बत होती है
वो क़दर क्यों नहीं करते

कमाल की मोहब्बत थी मुझसे
उसको अचानक ही शुरू हुई
और बिना बताये
ही ख़त्म हो गई

Love dhoka shayari in hindi

Dhoka Shayari in hindi

ना आंखों से छलकते है ना
कागज पर छपते हैं
कुछ दर्द ऐसे हैं जो अंदर ही
अंदर पनपते हैं

अच्छा हुआ
जल्दी बदल गये तुम
वरना मेरी उम्मीदे
और बढ़ती जा रही थी

इतनी शिदत से भी
प्यार ना करना
कभी किसी से जनाब
बहुत गहराई में जाने वाले
अक्सर डुब जाते है

आँखों में बसा रखा है
तो लकीरों में
बसाने की
क्या जरूरत

ना वो सपना
देखो जो टूट जाये
ना वो हाथ थामो
जो छुट जाये

दर्द देकर खुद ही
सवाल करते हो
बेवफा तुम हो और
हमसे सवाल करते हो

Dhoka shayari in hindi images

कितना बुरा लगता है
जब बादल हो और बारिश ना हो
सबके दीदार हो
और तुम पास न हो

लम्हे ये सुहाने
साथ हो न हो
कल में थी आज में
ऐसी बात हो न हो

अपना कुसूर बेवफाई का
दूसरों के सर पर डालकर
कुछ लोग सोचते हैं
कि हकीकत बदल गई

उसे बहुत प्यार
करने की गलती कर दी
और छोड़ कर
चला गया मुझे

bewafa shayari in hindi

कैसे मिलेंगे हम
ये बताये कोई
दुनिया खड़ी है
राह में दीवार की तरह

तुम आएना मत
देखा करो
मुझे चुभती है निगाहे
तुम्हारी तुम्हें देखने से

बस पत्थर बन के
रह जाता ‘ताज महल’
अगर इश्क इसे
अपनी पहचान ना देता
सोचो देखता फिर उसे

एक ये ख्वाहिश है कि
कोई ज़ख्म न देखे दिल का,
एक ये हसरत यह है कि
कोई देखने वाला ही होता

Dhoka shayari in hindi hd images

मेरे दिल का क्या आलम है
ये तो तू अभी जानता नहीं
तू तो कहता था कि
तू मुझे खूब जनता है

इक तेरे बगैर ही न
गुजरेगी ये ज़िंदगी मेरी
बता मैं क्या करुगा
किसी और का हो कर

वो ज़हर देता तो
बेवफा कहलाता
सो उसने यूँ किया
कि वक़्त पे दवा न दी

एक तुम ही मिल जाते
इतना काफ़ी था
सारी दुनिया हमे
चाहिए भी नहीं थी

बेरुख़ी इस से बड़ी
और भला क्या होगी,
एक मुद्दत से हमें
उसने सताया भी नहीं

hindi me bewafa dhokha shayari

तोड़ा कुछ इस
अदा से ताल्लुक
ना मैं अपना रहा
न उसका होने दिया उसने

परवाह करने की आदत
ने तो परेशां कर दिया
अब सोचता हु
बे परवाह ही ठीक था मैं

Dhoka Shayari in hindi

बहुत खूब बात
यह है आशिक़ की
लफ़्ज़ कागज पर उतारने
से भी वो लौटा नहीं करते

मेरी हर शायरी मैं इतना दर्द
को करेगी बंया ए गम
तुम्हारी आँख ना भर जाएँ
कहीं पढ़ते पढ़ते

मेरे सब्र की इन्तेहाँ
क्या पूछते हो ‘फ़राज़’
वो मेरे सामने रो रहा है
किसी और के लिए


2 thoughts on “प्यार में धोखा शायरी in hindi | Dhoka Shayari in hindi”

Leave a Comment

x