Murshad shayari status download in hindi

यह तो परिंदों की
मासूमियत है मुर्शिद
वरना दूसरों के घरों में
अब यु कौन आता जाता है

काश कोई ऐसा हो जो
गले लगा कर कहे मुर्शीद
रोया ना कर
तेरे रोने से मुझे भी दर्द होता है

हम तो अकेले थे
अकेले हैं मुर्शिद तुमने
छोड़ कर कोई कमाल
थोड़ी ना किया है

Murshad shayari image download

ऐसा है रिश्ता
तेरा मेरा
तू है मुर्शिद
मैं हु मुरीद तेरा

अपनी अच्छाई पर
भरोसा रखो मुर्शिद
की जो उसने तुमको खोया है
वो एक दिन जरूर रोयेगा

भरोसा तो जिंदगी
का भी नहीं मुर्शिद
और तुम इंसानो
पर कर लेते हो

पहले लगता था कि
तुम ही दुनिया हो मुर्शीद
और अब लगता है
कि तुम भी दुनिया हो

नहीं मिलता वक्त
साथ गुजारने को..
“मुर्शिद” हम दोनो एक ही फलक
के सूरज चांद है

हम हर जगह से
ठुकराये गए हैं,
मुर्शिद ! क्या हम भी
जन्नत में जाएंगे ?

उसे लिखा गया
किसी और के नसीब में मुर्शद
वो शख़्स जिसे दुआओं में
मैंने माँगा था

murshid ki shayari

उन्हें हँसते हुए
देखा मुर्शद
हम रोक ना पाए खुद को
हमारी भी हंसी निकल पड़ी

हर किसी से इश्क़
कहाँ होता है मुर्शद
इश्क़ उन्हीं से होता है
जो नसीब में नहै होते

इक उमर बीत गई
पूरी की पूरी मुर्शद
उन्हें देखने की खवाहिश
मगर अधूरी ही रही

वो जब
उनका हाथ छूटा था
यूं लगा
कुछ टुटा था मुर्शद

वो जो कभी हमसे
मोहब्बत करते थे मुर्शद
वो हम पर
हँसते है अब

हमें भी हुई थी
मुर्शद मोहब्बत किसी से
हम भी तड़पे थे
इक शख़्स के लिए

murshid shayari in hindi

जिसकी ख्वाहिश
होती है हमें मुर्शद
वो शख़्स हमें
मिलता क्यूँ नहीं

वो तो अब पास
भी नहीं आते मुर्शद
ना जाने पास
किसके अब जाने लगे है

बात दिल पर
आ बनी थी मुर्शद
और वो दिल
तोड़ना चाहते थे

हम समझाते तो
समझाते कैसे मुर्शद
वो कुछ सुनना
ही नहीं चाहते थे

कभी रूबरू तक
नहीं हुए थे उनसे मुर्शद
तो बात दिल की
कैसे बताते उन्हें

हमें कोई तरकीब बताए
आप मुस्कराने की मुर्शद
उनके जाने से
हम हंसना भूल गए है

mushayari shayari status download in hindi

जब चोट लगती है
दिल पे मुर्शद
अकल तब
ठिकाने आती है

ग़ुमान था उन्हें हमारे
जैसे कई मिलेंगे मुर्शद
हमने भी कह दिया जाओ
ढूंढ लो हम तुम्हें अब नहीं मिलेंगे

आवाज़ नहीं होती दिल
टूट फिर भी जाता है मुर्शद
ख्यालों में खोया आशिक़
चलते चलते गिर भी जाता है मुर्शद

मेरे नसीब में मोहब्बत
नहीं लिखी गई मुर्शद
मेरे नसीब में
सिर्फ गम लिखा गया

वो छोड़ी नहीं
गई हमसे मुर्शद
हमें उनकी
आदत जो लगी थी

जब दिल किसी शख्स
पर ठहर जाए ना, मुरशद
तो जेहन किसी और को
कुबूल करने के काबिल नहीं रहता

बाँध सके मुझे
ऐसी कोई बंदिश नहीं, मुर्शिद
पर तेरी बाहों की
बात कुछ और है

musrshad status hindi

काँटे तो नसीब में
आने ही थे मुर्शद
फूल जो गुलाब
दिना था ना हमने.

वो कहती है की मैं मर
जाऊं तो गिला ना करना मुर्शद
हम दुबारा फिर मिलेंगे
खुदा की जन्नत में

मुर्शिद माना कि मौत
बरहक़ है लेकिन
मेरे मरने तक
तो जीने दो

वो केसी और
को मायसर है
मुरशद मेरा ये सदमा
सिरफ खुदा जनता है

मैं पहले जैसा हो जाऊं
मुरशद मगर मुझे
याद तो आए
मैं पहले कैसा था

हम जैसे बेकार
लोग मुरशद
रूठ भी जाए तो
कोई मनाने नहीं आता

उनके साथ तो मैं
सिर्फ तमाशा था
मुरशद इधर तो हमारी
जिंदगी तबाह हो गई

मुर्शीद हमें
भरी जवानी
में गम मिला है
हमारे साथ कोई दगा कर गया

मुरशद तुम उस लड़के का
दुख क्या समझोगे
जो बेरोजगार हो और
उसे मोहब्बत ने घेर लिया

मुरशद गैरों से क्या वफा
की उम्मीद रखते हैं
शाम होते ही मेरा
साया साथ छोड़ जाता है

नफरत के दावे
एक तरफ मुरशद
उसका मेरे नाम
पर मुड़कर देखना गजब था

Leave a Comment

x